होम | कॉमिक्स | कॉमिक्स ब्लॉग
आपका इरादा अच्छा है, तो भगवान आपके धनदाता बन जाते हैंः आबादी सुरती
5 मई 1935 में पैदा हुए आबिद सुरती या अबीद सुरती एक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता भारतीय लेखक हैं जिन्होंने भारत और विदेशों में चित्रकार, लेखक, कार्टूनिस्ट, पत्रकार, पर्यावरणवादी, नाटककार और पटकथा लेखक के अलावा एक गैर सरकारी संगठन ड्रॉप डेड फाउंडेशन में व्यक्तिगत रूप मे कार्य कर रहे हैै। पानी की हर बूंद को बचाने के लिए छपी एक किताब के लिये उन्हे 1993 में भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया था। वो बीते कुछ साल से लोगो के घरो मे टपकते नल और पाइपलाईन निशुल्क ठीक करते है।
सुपर कमांडो ध्रुव के मुख्य 10 खलनायक
ध्रुव भारतीय कॉमिक बुक की दुनिया में सबसे अधिक पहचानने योग्य सुपरहीरो में से एक है। इन वर्षों में, ध्रुव ने सामान्य मनुष्य से लेकर खलनायक, सुपरविलेन्स से एलियंस, कॉमेडी खलनायक और ट्रिकस्टर्स से राक्षसों और देवता जैसे प्राणियों और कभी-कभी अन्य सुपरहीरो जो कभी कभी बूरे बन गये उनसे भी वो लड़ा है। ध्रुव के कुछ दुश्मन बाद में अच्छी राह की ओर मुड़ गए। कुछ अवसरों पर, उन दुश्मनो से भी लड़ना पड़ा जो कभी दूसरे हीरो के दुश्मन थे। ध्रुव की खासीयत येहै की उसके पास कोई भी सुपरपावर ना होते हुये भी वो अपने दुश्मनो को अपने आस पास पड़े वस्तुओ को ही हथियार बना कर उन्हे हरा देता है उसके पास तेज बुद्धि तथा बचपन मे सर्कस मे सीखाई गयी कलाबाजी के दम पर वो सदैव अपने दुश्मनो को परास्त करता आ रहा है तथा उन्ही की मदद से वो मासूम बेगुनाहो की जिंदगीया भी बचाता है और अगर ये कहे की ध्रुव को सुपर कमाडों ध्रुव बनाने मे उसके खलनायको का कोई हाथ नही है तो ये गलत होगा क्योंकि उनके आने तथा बार बार ध्रुव तथा राजनगर पर हमला करने से ही ध्रुव अपने काम मे महारथ हासील कर पाया है और उसके मुख्य खलनायको मे से कुछ चुनिंदा खलनायको की एक लिस्ट हम आपके सामने रख रहे है।
प्राण कुमार शर्मा भारत में कॉमिक उद्योग को एक नया आयाम दिया जिसे हम कह सकते है 'WOW'
अगर आप लोगो को ये कहंे की प्राण कुमार शर्मा का निधन अगस्त, 05, 2014 को हो गया तो सिर्फ कुछ ही लोग ध्यान देंगे किंतु अगर उन्हें ये कहे की चाचा चैधरी के निर्माता का निधन 7 अगस्त 2014 को 75 साल की उम्र में गुड़गांव मे हो गया है तो हजारो लोग शोक मे डूब जायेंगे। जब मैंने चाचा चैधरी के निर्माता की मृत्यु के बारे में पढ़ा, तो मुझे भी व्यक्तिगत रूप से दुख हुआ। वह कोलन कैंसर से पीड़ित थे।
भारत में कॉमिक्स का भविष्य क्या है?
जैसे-जैसे भारतीय कॉमिक उद्योग समय के साथ विकसित हो रहा है, उतना अधिक प्रकाशक इस बाजार में मुनाफे के हिस्से को हथियाने के कोशीश कर रहे हैैं। 90 के दशकों में काॅमिक्स के फलते फूलते बाजार देखने के बाद कई काॅमिक कंपनीयो ने कोशीश की किंतु वो उसमे नाकाम रही और मनोज और तुलसी जैसी कंपनी बंद होने की कगार पर पहंुच गयी जबकि राज काॅमिक डिजीटल को गले लगाने के कोशीश मे अपनी गुणवत्ता खो बैठा और बाजार मे उसकी साख गिरने लगी ।
- Advertisement -
 

ट्रेंडिंग

बैंगलोर-एक ग्राफिक उपन्यास एवरी सिटी इज ए स्टोरी

बैंगलोर-एक ग्राफिक उपन्यास एवरी सिटी इज ए स्टोरी

बैंगलोर का मतलब अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीज है। और अब 18 कलाकारों और लेखकों ने 9 कहानियों के माध्यम से शहर के अपने बहुरूपदर्शक संस्करण प्रस्तुत करने के लिए एक जुट हुये हैैं। यह एक ऐसा शहर है जहां राशि भागों से अधिक है, यह एक ऐसा विजन है जो अतीत, वर्तमान और भविष्य का मिश्रण करता है...